हैप्पी बर्थ-डे: 29 वर्ष की हुई श्रेया घोषाल पंचायत ने लगाई आबरू की कीमत सिर्फ 60 हजार महात्मा गांधी की हत्या में RSS का हाथ नहीं था: आडवाणी पूर्व कांग्रेस सांसद तेजस्विनी ने थामा भाजपा का दामन न्यूयॉर्क: इमारत गिरने से 2 की मौत, 11 लोग घायल जम्‍मू-कश्‍मीर: बर्फीले तूफान से 11 की मौत रामकृपाल को भाजपा नेता ने बताया लालू का घरेलू नौकर ‘आप’ ने जारी की लोकसभा उम्मीदवारो की पांचवी लिस्ट नरेन्द्र मोदी को मिला वकीलो का साथ अन्ना से मिले भाजपा नेता जनरल वीके सिंह 'महिला से संबंध' बनाने पर RSS सह-सरकार्यवाह की छुट्टी मेरे ट्वीट का गलत मतलब निकाला गया: कुमार विश्वास नक्सली हमला: राज्य सरकार ने की गृहमंत्रालय के अडवाइजरी की अनदेखी IPL कार्यक्रम का एलान, बांग्लादेश में भी होंगे मैच, फाइनल 1 जून को भारत में हाईकोर्ट ने नर्सरी दाखिले के ड्रॉ पर लगाई रोक, अगली सुनवाई 24 मार्च को लापता विमान: लेडीज यात्रियों के साथ मस्ती करता था गायब विमान का पायलट फीस चुकाने के लिए छात्रा बन गई पोर्न स्टार सलमान खुर्शीद पर जगदंबिका पाल के गंभीर आरोप बुधवार को शेयर बाजार में तेजी, सेंसेक्स 30 अंक चढ़ा सुब्रत रॉय की जमानत याचिका पर सुनवाई टली
दिल्ली में महिलाएं अन्य राज्यों से ज्यादा असुरक्षित: सर्वे
06 Mar 2014

 

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली पर एक ऐसा धब्बा लगा है जिसको सुनकर प्रत्येक दिल्लीवासी को दुःख होगा। दरअसल, दिल्ली को लगातार दूसरी बार देश का महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित राज्य चुनाव गया है। एक नए सर्वेक्षण के मुताबिक अकेले सफर करने वाली महिलाओं के लिए छुट्टियों में घूमने फिरने या काम के लिए बाहर निकलने के लिहाज से दिल्ली को सबसे असुरक्षित शहर माना है।
 
यह सर्वेक्षण किया ‘ट्रैवल पोर्टल ट्रिपएडवाइजर’ ने। सर्वेक्षण के मुताबिक, 'देश के शीर्ष 10 असुरक्षित शहरों में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को एक बार फिर से शीर्ष स्थान मिला है। सर्वेक्षण के मुताबिक, 95 प्रतिशत महिलाओं ने दिल्ली को सबसे असुरक्षित बताया जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 84 प्रतिशत था।' यानि पिछले वर्ष से इस वर्ष दिल्ली में ज्यादा महिलाओं से सम्बंधित अपराधिक मामले आए हैं। पिछले वर्ष भी दिल्ली शीर्ष स्थान पर थी और इस बार भी।
 
दिल्ली के अलावा सबसे असुरक्षित शहरों में कोलकाता (64 प्रतिशत) और जयपुर (53 प्रतिशत) क्रमश: दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। वहीं 85 प्रतिशत महिलाओं ने अहमदाबाद को सबसे सुरक्षित शहर बताया। इससे पहले मुंबई शीर्ष पर काबिज हुआ था। इस वर्ष मुंबई पांचवें स्थान पर पहुंच गया। वहीं महिलाओं ने महाराष्ट्र (16 प्रतिशत) और गुजरात (14 प्रतिशत) को सबसे सुरक्षित राज्य बताया गया।
 
सर्वेक्षण में एक और चौकाने वाली बात का खुलासा हुआ है। सिर्फ 16 प्रतिशत महिलाएं ही उपलब्ध सुरक्षा साधनों का उपयोग करती हैं। वार्षिक महिला यात्री सर्वेक्षण 2014 के मुताबिक महिला अकेले यात्रा कर रही हो या समूह में ज्यादातर महिलाओं ने उन शहरों की यात्रा पर जाना पसंद किया जहां उन्हें सुरक्षित होने का अहसास हो। यह सर्वेक्षण अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस से पहले जारी किया गया है। यह सर्वेक्षण 1068 महिलाओं से एकत्रित जानकारी पर आधारित है। इनमें प्रोफेशनल्स, स्वरोजगार में लगी और घरेलू महिलाएं शामिल हैं।
 
ट्रिप एडवाइजर के प्रबंधक निखिल गंजू के मुताबिक, सर्वेक्षण में शामिल 43 प्रतिशत महिलाओं की उम्र 18 से 35 वर्ष के बीच थी। जबकि 27 प्रतिशत 35 से 45 आयुवर्ग की थी। उनके मुताबिक महिलाओं में अकेले या समूह में यात्रा करने की प्रवृत्ति बढ़ रही है। अकेले यात्रा करने वाली महिलाएं योग या अन्य आध्यात्मिक क्रियाओं को समूह में चलने वालों की तुलना में तीन गुना अधिक तवज्जो देती हैं। समूह में चलने वाली महिलाएं ज्यादातर शॉपिंग या दर्शनीय स्थलों को देखना ज्यादा पसंद करती हैं।

06 Mar 2014

Share this post

Submit to Facebook Submit to Google Bookmarks Submit to Technorati Submit to Twitter Submit to LinkedIn